पहले आपकी गांड भी तो इतनी नहीं फटी थी

सूहागरात का सबसे बड़ा झटका:
सुहागरात की तैयारी हो चुकी हो और पत्नी पति से बोली: कंडोम सिर्फ़ कोहिनूर ही लेना, बाकी से मुझे एलर्जी हो जाती है!

~~~~~

क़ुदरत फटी हुई चीज़ों का इस्तेमाल कितनी ख़ूबसूरती से करता है! जैसे कि…
– बादल फटने पर तेज़ बारिश आती है,
– दूध फटने पर पनीर बनता है,
– कंडोम फटने पर बच्चा!
इसीलिये जब आपकी गांड फटे तो समझ लीजिये क़ुदरत आपका इस्तेमाल किसी बड़े काम के लिये करना चाहता है!
इसीलिए फटने पर भी सदैव प्रसन्न रहें।

~~~~~

ग्राहक दुकानदार से भाई मास्क कितने की है?
दुकानदार: 200 ₹
ग्राहक: अरे पहले तो 20 ₹ की थी!
दुकानदार: पहले आपकी गांड भी तो इतनी नहीं फटी थी!

~~~~~

लड़की ने दादी को पूछा: आपके ज़माने में इतने सारे बच्चे कैसे होते थे?
दादी का सटीक जवाब: बेटी, अपने दादा जी को देख… आज भी जूते पहनते हैं, पर मोज़े नहीं!

~~~~~

कल Mrs. वर्मा बाज़ार में मिल गई!
हाल चाल पूछने के दौरान उन्होंने बताया, “दोनों अब बड़े हो गए हैं, काबू में ही नहीं आते हैं!”
साला अब समझ नहीं आ रहा है वो किसकी बात कर रही थी!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here